गद्य-साहित्यका विकास बहुविकल्पीय प्रश्न : एक

बहुविकल्पीय प्रश्न : एक

भारतेन्दु हरिश्चन्द्र

उचित विकल्प का चयन कीजिए।

(1) ”ये प्राचीनता के पोषक भी थे और नवीनता के उन्नायक भी, वर्तमान के व्याख्याता भी थे। और भविष्य के द्रष्टा भी।” यह कथन किस लेखक से सम्बन्धित है?
(क) महावीरप्रसाद द्विवेदी
(ख) श्यामसुन्दर दास
(ग) रामचन्द्र शुक्ल
(घ) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र

(2) कवि वचन सुधा’ और ‘हरिश्चन्द्र मैगजीन’ का सम्पादन किया
(क) श्यामसुन्दर दास ने
(ख) सरदार पूर्णसिंह ने
(ग) रामचन्द्र शुक्ल ने
(घ) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र ने

(3) निम्नलिखित में से कौन-सा लेखक खड़ी बोली के प्रारम्भिक उन्नायकों में नहीं गिना जाता?
(क) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(ख) मुंशी सदासुखलाल
(ग) मुंशी इंशाअल्ला खाँ
(घ) लल्लूलाल

(4) हिन्दी गद्य के विकास में भारतेन्दु जी का योगदान महत्त्वपूर्ण है, क्योंकि इन्होंने–
(क) गद्य का सर्वमान्य स्वरूप निर्धारित किया
(ख) गद्य को व्याकरण के अनुशासन में बाँधा
(ग) गद्य को परिमार्जन किया
(घ) अलंकृत और कवित्वपूर्ण गद्य की रचना की।

(5) वैदिकी हिंसा हिंसा न भवति’ किस विधा और शैली की रचना है?
(क) निबन्ध और सूत्र शैली
(ख) नाटक और हास्य-व्यंग्य
(ग) निबन्ध और कथा शैली
(घ) नाटक और स्तोत्र शैली

(6) इनमें से कौन भारतेन्दुयुगीन गद्यकार हैं?
(क) प्रतापनारायण मिश्र
(ख) रामचन्द्र शुक्ल
(ग) प्रेमचन्द
(घ) स० ही० वात्स्यायन ‘अज्ञेय’

(7) ‘सत्यार्थ प्रकाश’ भार एक हिन्दी गद्य-रचना है। इसके लेखक थे
(क) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(ख) प्रतापनारायण मिश्र
(ग) बदरीनारायण चौधरी ‘प्रेमघन’
(घ) स्वामी दयानन्द सरस्वती

(8) ‘भारतेन्दु युग’ के जीवनी लेखक हैं
(क) काका कालेलकर
(ख) लक्ष्मीधर वाजपेयी
(ग) कार्तिक प्रसाद खत्री
(घ) विष्णु प्रभाकर

(9) निम्नलिखित में से कौन-सी रचना भारतेन्दु जी की है?
(क) तितली
(ख) उसने कहा था
(ग) अँधेर नगरी
(घ) नमक का दारोगा

(10) “भारतवर्षोन्नति कैसे हो सकती है?” के लेखक कौन हैं?
(क) राहुल सांकृत्यायन
(ख) जैनेन्द्र कुमार
(ग) महावीरप्रसाद द्विवेदी
(घ) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र

(11) भारतेन्दु के सहयोगी लेखक/गद्यकार/निबन्धकार हैं
(क) हजारीप्रसाद द्विवेदी
(ख) वियोगी हरि
(ग) शिवपूजन सहाय
(घ) पं० बालकृष्ण भट्ट

(12) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र की रचना नहीं है
(क) सती प्रताप
(ख) नील देवी
(ग) भारत-दुर्दशा
(घ) भाषा-रहस्य

(13) भारतेन्दु युग का नाटक है
(क) लहरों के राजहंस
(ख) अम्बपाली
(ग) ध्रुवस्वामिनी
(घ) नल-दमयन्ती

(14) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र की रचना है
(क) वैदिकी हिंसा हिंसा न भवति
(ख) कलि कौतुक
(ग) नूतन ब्रह्मचारी
(घ) प्रेममोहिनी

(15) हिन्दी का प्रथम यात्रावृत्त है
(क) सरयूपार की यात्रा
(ख) परीक्षागुरु
(ग) कलम का सिपाही
(घ) पथ के साथी

(16) पाठ्य-पुस्तक में ‘बलिया के मेले के अवसर पर दिया गया भाषण’ किस शीर्षक से संगृहीत है?
(क) भारतवर्षोन्नति कैसे हो सकती है?
(ख) महाकवि माघ का प्रभात वर्णन
(ग) भारतीय साहित्य की विशेषताएँ
(घ) आचरण की सभ्यता

उत्तर
(1) घ, (2) घ, (3) क, (4) क, (5) ख, (6) क, (7) घ, (8) गे, (9) ग, (10) घ, (11) घ, (12) घ, (13) घ, (14) कं, (15) क, (16) क।।

महावीरप्रसाद द्विवेदी

उचित विकल्प का चयन कीजिए

(1) हिन्दी में समालोचना के सूत्रधार माने जाते हैं
(क) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(ख) श्यामसुन्दर दास
(ग) आचार्य रामचन्द्र शुक्ल
(घ) महावीरप्रसाद द्विवेदी

(2) संरस्वती’ पत्रिका के सम्पादक के रूप में प्रसिद्ध हैं
या
‘सरस्वती’ पत्रिका के प्रथम सम्पादक थे।
(क) हजारीप्रसाद द्विवेदी
(ख) आचार्य रामचन्द्र शुक्ल
(ग) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(घ) महावीरप्रसाद द्विवेदी

(3) खड़ी बोली का परिष्कार कर उसे व्यवस्थित बनाने का श्रेय है
(क) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र को
(ख) आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को
(ग) श्यामसुन्दर दास को
(घ) महावीरप्रसाद द्विवेदी को

(4) हिन्दी गद्य के विकास में आचार्य महावीरप्रसाद द्विवेदी का महत्त्व इसलिए है, क्योंकि उन्होंने
(क) हिन्दी गद्य का स्वरूप स्थिर किया
(ख) भाषा का परिष्कार कर उसे व्यवस्थित बनाया
(ग) अलंकृत एवं कवित्वपूर्ण गद्य की रचना की
(घ) यथार्थवादी जीवन-दर्शन को महत्त्व दिया

(5) ‘काव्य-मंजूषा’ निम्नलिखित में से किसकी कविताओं का संग्रह है?
(क) महादेवी वर्मा
(ख) जयशंकर प्रसाद
(ग) महावीरप्रसाद द्विवेदी,
(घ) स० ही० वात्स्यायन ‘अज्ञेय

(6) निम्नलिखित में से कौन द्विवेदीकालीन गद्य लेखक/लेखिका हैं?
(क) महादेवी वर्मा
(ख) सरदार पूर्णसिंह
(ग) सियारामशरण गुप्त
(घ) स० ही० वात्स्यायन ‘अज्ञेय

(7) निम्नलिखित में से कौन द्विवेदीयुगीन गद्य लेखक हैं?
(क) राय कृष्णदास
(ख) चन्द्रधर शर्मा गुलेरी
(ग) रामवृक्ष बेनीपुरी
(घ) उपेन्द्रनाथ अश्क’

(8) निम्नलिखित में से कौन द्विवेदी युग के लेखक नहीं हैं?
(क) बाबू श्यामसुन्दर दास
(ख) डॉ० नगेन्द्र
(ग) बालमुकुन्द गुप्त।
(घ) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(9) द्विवेदी युग के लेखक हैं
(क) सही०वी० ‘अज्ञेय’
(ख) किशोरीलाल गोस्वामी
(ग) हरिशंकर परसाई
(घ) कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर

(10) हिन्दी गद्य के उत्कर्ष का सूर्योदय काल था
(क) छायावादी युग
(ख) द्विवेदी युग
(ग) छायावादोत्तर युग
(घ) भारतेन्दु युग

उत्तर
(1) घ, (2) घ, (3) घ, (4) ख, (5) ग, (6) ख, (7) ख, (8) ख और घ, (9) ख, (10) ख।

श्यामसुन्दर दास

उचित विकल्प का चयन कीजिए

(1) “हिन्दी भाषा को सर्वजन सुलभ, वैज्ञानिक और समृद्ध बनाने में इनका योगदान अप्रतिम है।” यह कथन किस लेखक से सम्बन्धित है?
(क) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र से
(ख) जयशंकर प्रसाद से
(ग) रामवृक्ष बेनीपुरी से।
(घ) श्यामसुन्दर दास से

(2) साहित्यालोचन’ और ‘हिन्दी साहित्य निर्माता’ इनकी प्रमुख रचनाएँ हैं
(क) जयशंकर प्रसाद की
(ख) पं० रामचन्द्र शुक्ल की
(ग) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र की
(घ) श्यामसुन्दर दास की

(3) ‘नासिकेतोपाख्यान’ के रचयिता हैं
(क) महावीर प्रसाद द्विवेदी
(ख) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(ग) प्रेमचन्द
(घ) श्यामसुन्दर दास

(4) ‘काशी नागरी प्रचारिणी सभा’ की स्थापना में इनका सराहनीय योगदान रहा है
(क): भारतेन्दु हरिश्चन्द्र का
(ख) जयशंकर प्रसाद का
(ग) श्यामसुन्दर दास का
(घ) डॉ० सम्पूर्णानन्द का

(5) निम्नलिखित में से कौन द्विवेदीयुगीन गद्य लेखक/लेखिका हैं? या निम्नलिखित में से कौन छायावादी युग के लेखक नहीं हैं?
(क) महादेवी वर्मा
(ख) श्यामसुन्दर दास
(ग) यशपाल
(घ) भगवतीचरण वर्मा

(6) रूपक रहस्य’ के लेखक कौन हैं? यह किस विधा की रचना है?
(क) वियोगी हरि – नाटक
(ख) रामचन्द्र शुक्ल – निबन्ध,
(ग) श्यामसुन्दर दास – आलोचना
(घ) प्रतापनारायण मिश्र – निबन्ध

(7) श्यामसुन्दर दास द्वारा किस पत्रिका का सम्पादन किया गया?
(क) हिन्दी प्रदीप का
(ख) माधुरी का
(ग) इन्दु का
(घ) नागरी प्रचारिणी पत्रिका का

(8) ‘नासिकेतोपाख्यान’ शीर्षक से श्यामसुन्दर दास के अतिरिक्त किस लेखक ने गद्य-रचना की है?
(क) हजारीप्रसाद द्विवेदी
(ख) सदल मिश्र
(ग) रामचन्द्र शुक्ल
(घ) महावीरप्रसाद द्विवेदी

(9) निम्नलिखित में से कौन-सी रचना श्यामसुन्दर दास की नहीं है?
(क) मेरा जीवन प्रवाह
(ख) साहित्यालोचन
(ग) भाषा रहस्य
(घ) गद्य कुसुमावली

(10) ‘नागरी प्रचारिणी सभा’ की स्थापना किस युग में हुई?
(क) भारतेन्दु युग में
(ख) द्विवेदी युग में
(ग) छायावाद युग में
(घ) छायावादोत्तर युग में

(11) ‘भारतीय साहित्य की विशेषताएँ’ के लेखक हैं
(क) सरदार पूर्णसिंह
(ख) श्यामसुन्दर दास
(ग) अज्ञेय’।
(घ) वासुदेवशरण अग्रवाल

उत्तर
(1) घ, (2) घ, (3) घ, (4) ग, (5) ख, (6) ग, (7) घ, (8) ख, (9) क, (10) क, (11) ख।

सरदार पूर्णसिंह

उचित विकल्प का चयन कीजिए

(1) केवल छ: निबन्धलिखकर हिन्दी-साहित्य में अपना स्थायी स्थान बनाने वाले लेखक हैं
(क) मोहन राकेश
(ख) हजारीप्रसाद द्विवेदी
(ग) कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर
(घ) सरदार पूर्णसिंह

(2) ‘मजदूरी और प्रेम’ तथा ‘अमेरिका का मस्त योगी वाल्ट हिटमैन’ निबन्धों के लेखक हैं
(क) जैनेन्द्र कुमार
(ख) महावीरप्रसाद द्विवेदी
(ग) श्यामसुन्दर दास
(घ) सरदार पूर्णसिंह

(3) निम्नलिखित में से किसके निबन्ध ‘सरस्वती’ पत्रिका में प्रकाशित होते रहे?
(क) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र के
(ख) जैनेन्द्र कुमार के
(ग) कन्हैयालाल मिश्र के
(घ) सरदार पूर्णसिंह के

(4) ‘सच्ची वीरता’ और ‘मजदूरी और प्रेम’ किस विधा की रचनाएँ हैं?
(क) आत्मकथा
(ख) नाटक
(ग) कहानी
(घ) निबन्ध

(5) किस निबन्ध लेखक के नाम के साथ ‘अध्यापक’ शब्द जुड़ा हुआ है?
(क) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र के
(ख) जैनेन्द्र कुमार के
(ग) कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर’ के
(घ) सरदार पूर्णसिंह के

(6) सिक्खों के दस गुरुओं की जीवनी अंग्रेजी में किनके द्वारा लिखी गयी?
(क) स० ही० वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ द्वारा
(ख) सरदार पूर्णसिंह द्वारा
(ग) राहुल सांकृत्यायन द्वारा
(घ) भीष्म साहनी द्वारा

(7) निम्नलिखित में से कौन सरदार पूर्णसिंह के समकालीन निबन्ध लेखक थे?
(क) रामचन्द्र शुक्ल
(ख) बाबू गुलाबराय
(ग) पद्मसिंह शर्मा कमलेश
(घ) श्यामसुन्दर दास

(8) ‘आचरण की सभ्यता के लेखक हैं|
(क) डॉ० सम्पूर्णानन्दः
(ख) राय कृष्णदास
(ग) जैनेन्द्र कुमार,
(घ) सरदार पूर्णसिंह

उत्तर:
(1) घ, (2) घ, (3) घ, (4) घ, (5) घ, (6) ख, (7) ग, (8) घ।

डॉ० सम्पूर्णानन्द

उचित विकल्प का चयन कीजिए

(1) ‘आर्यों का आदि देश’ किस, लेखक की रचना है?
(क) सरदार पूर्णसिंह की
(ख) श्यामसुन्दर दास की
(ग) राय कृष्णदास की
(घ) डॉ० सम्पूर्णानन्द की

(2) ‘चिद्विलास’ और ‘जीवन दर्शन’ किस विधा की रचनाएँ हैं?
(क) दर्शन
(ख) नाटक
(ग) निबन्ध
(घ) जीवनी

(3) ‘भाषा की शक्ति’ किस निबन्ध लेखक के निबन्धों का संग्रह है?
(क) श्यामसुन्दर दास
(ख) जी० सुन्दर रेड्डी
(ग) डॉ० सम्पूर्णानन्द
(घ) हजारीप्रसाद द्विवेदी

(4) ब्राह्मण सावधान’ नामक पुस्तक के लेखक कौन हैं?
(क़) राहुल सांकृत्यायन
(ख) स० ही० वात्स्यायन ‘अज्ञेय
(ग) डॉ० सम्पूर्णानन्द
(घ) जैनेन्द्र कुमार

(5) ‘मर्यादा’ (मासिक पत्रिका) और ‘टुडे’ (अंग्रेजी दैनिक) के सम्पादन से सम्बद्ध रहे
(क) डॉ० सम्पूर्णानन्द
(ख) स० ही० वात्स्यायन ‘अज्ञेय’
(ग) प्रो० जी० सुन्दर रेड्डी
(घ) मोहन राकेश

(6) डॉ० सम्पूर्णानन्द द्वारा सम्पादित पत्रिका का नाम है
(क) सरस्वती
(ख) धर्मयुग
(ग) मर्यादा
(घ) हंस

उत्तर:
(1) घ, (2) क, (3) ग, (4) ग, (5) क, (6) गः ।

राय कृष्णदास

उचित विकल्प का चयन कीजिए

(1) इनके द्वारा भारत कला भवन’ नाम के एक विशाल संग्रहालय की स्थापना की गयीया वाराणसी में भारत कला भवन’ नामक संग्रहालय की स्थापना करने वाले साहित्यकार थे
(क) रामचन्द्र शुक्ल
(ख) श्यामसुन्दर दास
(ग) डॉ० सम्पूर्णानन्द
(घ) राय कृष्णदास

(2) इन्होंने हिन्दी में गद्यगीत विधा का प्रवर्तन किया
(क) हरिशंकर परसाई
(ख) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(ग) महावीरप्रसाद द्विवेदी
(घ) राय कृष्णदास

(3) इनके गद्यगीतों के संग्रह ‘छायापथ’ के नाम से प्रकाशित हुए हैं
(क) डॉ० सम्पूर्णानन्द
(ख) श्यामसुन्दर दास
(ग) हरिशंकर परसाई
(घ) राय कृष्णदास

(4) नीचे दी गयी रचनाओं में कौन-सी अनूदित रचना है?
(क) साधना
(ख) ऑखों की चाहे
(ग) सुधांशु
(घ) पगला

(5) ‘भारत की चित्रकला’ तथा ‘भारतीय मूर्तिकला’ इनके प्रामाणिक ग्रन्थ हैं
(क) डॉ० सम्पूर्णानन्द
(ख) राहुल सांकृत्यायन
(ग) महादेवी वर्मा
(घ) राय कृष्णदास

(6) ‘साधना’ नामक गद्यगीतों के संग्रह के रचयिता कौन हैं?
(क) वृन्दावनलाल वर्मा
(ख) मोहन राकेश
(ग) राय कृष्णदासे
(घ) विनय मोहन शर्मा

(7) ‘आनन्द की खोज, पागल पथिक’ के रचनाकार हैं
(क) राय कृष्णदास
(ख) यशपाल
(ग) बासुदेवशरण अग्रवाल
(घ) रामवृक्ष बेनीपुरी

(8) ‘आनन्दं की खोज’ और ‘मगल पथिक’ का सम्बन्ध किस विधा से है?
(क) संस्मरण
(ख) निबन्ध
(ग) गद्यगीत
(घ) आलोचना

(9) छायावादी युग के गद्य-लेखक हैं’
(क) श्यामसुन्दर दास
(ख) रामचन्द्र शुक्ल
(ग) प्रतापनारायण मिश्र
(घ) राय कृष्णदास

उत्तर:
(1) घ, (2) घ, (3) घ, (4) घ, (5) घ, (6) ग, (7) क, (8) ग, (9) ख, घ।

राहुल सांकृत्यायन

उचित विकल्प का चयन कीजिए

(1) कहानी-संग्रह वोल्गा से गंगा’ के लेखक हैं
(क) राय कृष्णदास
(ख) जैनेन्द्र कुमार
(ग) सरदार पूर्णसिंह
(घ) राहुल सांकृत्यायन

(2) ‘महापण्डित’ किस लेखक के नाम के साथ जुड़ा है?
(क) रामचन्द्र शुक्ल
(ख) हजारीप्रसाद द्विवेदी
(ग) महावीरप्रसाद द्विवेदी
(घ) राहुल सांकृत्यायन

(3) मेरी जीवन यात्रा’ किस विधा की रचना है? इसके रचनाकार कौन हैं?
(क) आत्मकथा-डॉ० सम्पूर्णानन्द
(ख) आत्मकथा-राहुल सांकृत्यायन
(ग) निबन्ध–आचार्य रामचन्द्र शुक्ल
(घ) निबन्ध-श्यामसुन्दर दास

(4) निम्नलिखित में कौन-सी रचना उपन्यास नहीं है?
(क) जीने के लिए
(ख) मधुर स्वप्न
(ग) सप्तसिन्धु
(घ) घुमक्कड़शास्त्र

(5) ‘अथातो घुमक्कड़ जिज्ञासा’ के लेखक हैं
(क) मोहन राकेश
(ख) श्यामसुन्दर दास
(ग) राहुल सांकृत्यायन
(घ) सरदार पूर्णसिंह

(6) किनका वास्तविक नाम केदारनाथ पाण्डे था?
(क) कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर
(ख) जैनेन्द्र कुमार
(ग) राहुल सांकृत्यायन
(घ) मोहन राकेश

उत्तर:
(1) घ, (2) घ, (3) ख, (4) घ, (5) ग, (6) ग।

रामवृक्ष बेनीपुरी

उचित विकल्प का चयन कीजिए

(1) निबन्धों और रेखाचित्रों के लिए इनकी ख्याति सर्वाधिक है
(क) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(ख) प्रतापनारायण मिश्र
(ग) सरदार पूर्णसिंह
(घ) रामवृक्ष बेनीपुरी

(2) ‘माटी की मूरतें’ इनके श्रेष्ठ रेखाचित्रों का संग्रह है, जिससे बिहार के जन-जीवन को जाना जा सकता है
(क) मोहन राकेश
(ख) राय कृष्णदास
(ग) सरदार पूर्णसिंह
(घ) रामवृक्ष बेनीपुरी

(3) इन्होंने ‘तरुण भारती’ और ‘बालक’ पत्रिका का सम्पादन किया
(क) प्रतापनारायण मिश्र
(ख) सरदार पूर्णसिंह
(ग) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(घ) रामवृक्ष बेनीपुरी।

(4) ‘जंजीरें और दीवारें’ तथा ‘मील के पत्थर’ किस विधा की रचनाएँ हैं?
(क) उपन्यास
(ख) कहानी
(ग) निबन्ध
(घ) संस्मरण

(5) पैरों में पंख बाँधकर’ और ‘उड़ते चलें किस विधा की रचनाएँ हैं?
(क) उपन्यास
(ख) यात्रावृत्त
(ग) निबन्ध
(घ) कहानी

(6) ‘सीता की माँ’, ‘अम्बपाली’ किस लेखक द्वारा रचित नाटक हैं?
(क) रामवृक्ष बेनीपुरी
(ख) जयशंकर प्रसाद
(ग) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(घ) डॉ० रामकुमार वर्मा

(7) निम्नलिखित में से छायावादोत्तर युग के प्रमुख गद्य लेखक कौन हैं?
(क) रामवृक्ष बेनीपुरी
(ख) जयशंकर प्रसाद
(ग) विद्यानिवास मिश्र
(घ) फणीश्वरनाथ रेणु

उत्तर
(1) घ, (2) घ, (3) घ, (4) घ, (5) ख, (6) क, (7) का

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *