1 A Photograph [एक तस्वीर] -Shirley Toulson

कठिन शब्दार्थ, हिन्दी अनुवाद एवं व्याख्या

The cardboard shows …… terribly transient feet. (Page 11)

कठिन शब्दार्थ : cardboard (काड्बॉड्) = मोटा सख्त कागज; इस तरह के कागज पर खींची गयी तस्वीर, girl cousins (गल् कन्स) = चचेरी, ममेरी बहनें, paddling (पैड्लिङ्) = उथले पानी में चलना, still (स्टिल्) = बिना हिले-डुले, स्थिर, terribly transient (टेरब्लि ट्रैन्सइअन्ट) = अत्यन्त अस्थायी, क्षणिक।

हिन्दी अनुवाद : मोटे, सख्त कागज पर खींची गई तस्वीर मुझे यह दर्शाती है कि मेरी माँ कैसी दिखाई देती थी जब वह एक छोटी लड़की हुआ करती थी। तस्वीर में कवयित्री की माँ की दो चचेरी बहनें

भी साथ दिखाई दे रही हैं जो उसकी माँ के एक-एक हाथ को पकड़े हुए समुद्र के उथले पानी में चल रही हैं। माँ उनके बीच में दिखाई दे रही है और उन दोनों से बड़ी है—करीब 12 वर्ष की। तीनों स्थिर खड़ी हैं और उनके चेहरे पर फैले बालों के बीच से कैमरे से फोटो खींचने वाले अंकल की ओर मुस्करा रही हैं। माँ का चेहरा कितना सुन्दर दिखाई दे रहा है। लेकिन ऐसा मेरे जन्म के पूर्व था और यह समुद्र जो अत्यल्प रूप से परिवर्तित हुआ प्रतीत हो रहा है, उन पैरों को धो रहा था जो अत्यन्त अस्थायी एवं क्षणिक अस्तित्व रखते थे।

Explanation—The poetess Shirley Toulson, looks at a photograph that was taken on a piece of cardboard long ago. The photograph shows her mother with two of her girl cousins who were younger than herself. These three little girls had gone paddling on the sea-shore. The two girl cousins of the poetess’s mother were holding one hand each of her. All the three girls were standing motionlessly and smiling at the uncle who was taking their photograph. They were smiling through their hair as it had spread over their faces because of the wind. The photograph showed that her mother had a beautiful face. But this was of a time before she (the poetess) was born. The sea was washing the girl’s feet, which had undergone a terrible change. But, on the contrary, the sea itself had changed little. The poetess means to say that human life is short-lived and changeable, whereas the sea and other objects of nature are unchangeable.

व्याख्या-कवयित्री शर्ली टौल्सन कार्डबोर्ड के टुकड़े पर खींची गयी एक तस्वीर को देखती है जिसे काफी पहले खींचा गया था। यह तस्वीर उसकी माँ को उसकी (माँ की) दो चचेरी बहिनों के साथ प्रदर्शित करती है। ये बहिनें उसकी माँ से उम्र में छोटी थीं। ये तीनों छोटी-सी लड़कियाँ समुद्र के किनारे पानी में चलने-फिरने गयी थीं। ये दोनों बहिनें कवयित्री की माँ के एक-एक हाथ को पकड़े हुए थीं। तीनों लड़कियाँ बिना हिले-डुले खड़ी थीं और उस व्यक्ति (अंकल) की ओर मुस्करा रही थीं जो उनकी तस्वीर खींच रहा था। वे अपने चेहरों पर फैले बालों के भीतर से मुस्करा रही थीं। ये बाल बहती हवा के कारण उनके चेहरों पर फैल गये थे। यह तस्वीर दिखाती थी कि उसकी माँ का चेहरा अत्यधिक सुन्दर था। लेकिन यह बात कवयित्री के जन्म से पूर्व की थी। समुद्र इन लड़कियों के पैरों को धो रहा था जो अब जबरदस्त रूप से बदल चुके थे लेकिन इसके विपरीत समुद्र स्वयं बिल्कुल अपरिवर्तित रहा था। कवयित्री का तात्पर्य यह है कि मनुष्य का जीवन क्षणिक एवं परिवर्तनशील होता है, जबकि समुद्र एवं अन्य प्राकृतिक वस्तुएँ अपरिवर्तित रहती हैं।

Some twenty-thirty-years …….. ….. ease of loss. (Page 11)

कठिन शब्दार्थ : Snapshot (स्नैपशॉट) = Photograph (फोटोग्राफ्) = तस्वीर, Betty and Dolly (बैटी एण्ड डौली) = तस्वीर में दिखाई देने वाली चचेरी बहनें, Wry (राइ) = दु:ख या निराशा में ऐंठा या सिकुड़ा हुआ, laboured (लेबड्) = कठिनाई से प्राप्त किया गया, ease (ईज्) = राहत, चैन, loss (लॉस्) = हानि, किसी को खो देने का दु:ख।

हिन्दी अनुवाद : करीब 20-30 वर्ष बाद वह (माँ) इस तस्वीर को देख कर हँसा करती थी। वह कहा करती थी, “देखो बैटी एवं डौली”, “और देखो वे हमें समुद्र के किनारे जाने हेतु कैसे वस्त्र पहनाते थे।” समुद्र के किनारे बिताये गये छुट्टी के दिन उसका अतीत थे। उसका (माँ का) हँसना मेरा अतीत बन गया था। दोनों के चेहरे नुकसान (दु:ख) से राहत पाने की कठिन कोशिश में विकृत हो जाते थे।

Explanation—The poetess looks at the photograph which shows her mother, then 12 years old, and her two girl cousins on the sea beach. The poetess remembers how her mother used to laugh at the photograph. She would tell the poetess how their parents and others dressed them for a holiday on the beach and laughed. The poetess’ mother remembered those moments with sadness in her heart. It was her past that was no more. The innocent joys of a sea holiday had gone with the past. Similarly, her (mother’s) laughter was a thing of the past for the poetess as her mother was no more in this world. Both had their faces twisted and distorted when they recalled their happy childhood days. They tried hard to extract some relief by forgetting their losses.

व्याख्या-कवयित्री उस तस्वीर को देखती है जो उसकी माँ, जो तब 12 वर्ष की थी तथा उसकी दो चचेरी बहिनों को दर्शा रही है। वे समुद्र के किनारे पर खड़ी हैं। कवयित्री को स्मरण होता है कि इस तस्वीर को देखकर किस प्रकार उसकी माँ हँस दिया करती थी। वह कवयित्री को कहा करती थी कि उनके माता पिता तथा अन्य लोग किस प्रकार उन्हें समुद्र के किनारे छुट्टी बिताने हेतु तैयार करते थे। ऐसा कह कर वह (माँ) हँस पड़ती थी। कवयित्री की माँ उन क्षणों को हृदय में उदासी भर कर याद किया करती थी। यह उसका अतीत था जो अब चला गया था। समुद्र के किनारे पर बितायी गयी छुट्टी के मासूमियत भरे आनन्द अतीत के साथ ही जा चुके थे। इसी प्रकार उसकी माँ की हँसी कवयित्री के लिए अतीत की चीज बन गयी थी क्योंकि उसकी माँ अब इस दुनिया में नहीं थी। दोनों के चेहरे तब बल खाते एवं विकृत हो जाते थे जब वे अपने आनन्दपूर्ण बचपन के दिनों को याद किया करती थीं। अपने खोये हुए अतीत को भुलाकर वे थोड़ी राहत ले पाने की कठिन कोशिश करती थीं।

Now she’s been ………………….. Its silence silences. (Page 11)

कठिन शब्दार्थ : this circumstance (दिस् सकम्स्टन्स्) = इस परिस्थिति, silence (साइलन्स्) = शान्ति, खालीपन, silences (साइलेन्स्ज ) = चुप कर देता है।

हिन्दी अनुवाद : अब उसे (कवयित्री की माँ को) मरे हुए करीब उतना ही समय बीत चुका है जितना समय एक छोटी-सी लड़की के रूप में उसने (माँ ने) जीया था। अर्थात् करीब 12 वर्ष और इस परिस्थिति के बारे में (माँ के गुजर जाने और कवयित्री के उसकी माँ के सान्निध्य से वंचित हो जाने) कुछ भी कहने को शेष नहीं रह जाता है। यह कुछ नहीं कह पाना शान्त वातावरण को और अधिक शान्तिपूर्ण बना देता है।

Explanation-The poetess’ mother has been dead for nearly 12 years. The girl in the photograph (her mother) had also enjoyed her time for the same period i.e. nearly 12 years. Now her mother is no more. The loss for the poetess is so huge that she has no words to describe it. In fact, there is nothing to say about the loss that the poetess has suffered in the death of her mother. She is silenced by the emptiness created by her

mother’s death.

व्याख्या-कवयित्री की माँ को मरे करीब 12 वर्ष हो चुके हैं। तस्वीर में दिखाई दे रही लड़की (कवयित्री की माँ) ने भी करीब 12 वर्ष की अवधि तक ही अपने लड़कपन के समय का आनन्द लिया था। अब उसकी माँ नहीं रही। कवयित्री के लिए यह हानि इतनी बड़ी है कि इसका वर्णन करने के लिए उसके पास शब्द नहीं हैं। वस्तुतः माँ के निधन के रूप में हुई हानि के बारे में कवयित्री के पास कहने को कुछ भी नहीं बचा है। माँ के देहान्त के द्वारा पैदा किए गये खालीपन से कवयित्री चुप रहने को ही बाध्य हो जाती है।