Chapter 2 पत्र – नौका (अनिवार्य संस्कृत)

पत्रनिर्मिता पत्रनिर्मिता ………………………………… चलितो।।

हिन्दी अनुवाद – कागज से बनी तुम्हारी नाव; कागजे से बनी मेरी नाव; तुम्हारी नाव पानी में गली; मेरी नाव आगे चली।

नहि-नहि ……………………………………… रचिता।।

हिन्दी अनुवाद – दुख नहीं करना चाहिए; नया कागज ले आओ; वह गली; तो क्या गल गया! नई-नई दूसरी बनी।

वायुः यदा …………………………….. चलिते।।

हिन्दी अनुवाद – जब हवा धीरे-धीरे बहे, तब तालाब जाना चाहिए और उसमें दोनों नई नौकाएँ छोड़ देनी चाहिए। वे आसानी से पार उतर जाएँगी।

अभ्यास

प्रश्न 1.
एक पद में उत्तर दें –

(क) नौका केन निर्मिता?
(ख) किम् आनेयम्
(ग) नवा-नवा किं रचिता?
(घ) किं न करणीयम्

उत्तर :

(क) पत्रेण।
(ख) नूतनपत्रम्।
(ग) नौका।
(घ) दुःखं न करणीयम्।

प्रश्न 2.
अधोलिखित श्लोकांशों का सही क्रम में मिलान करें –
UP Board Solutions for Class 6 Hindi Chapter 2 पत्र-नौका (अनिवार्य संस्कृत) 1

प्रश्न 3.
मञ्जूषा से क्रियापदों को लेकर श्लोकांश की पूर्ति करें (पूर्ति करके)

(क) पत्र निर्मिता तव नौका।
(ख) मम नौका अग्रे चलिता।
(ग) तव नौका सलिले गलिता।
(घ) नवा-नवा नौका रचिता।

प्रश्न 4.

UP Board Solutions for Class 6 Hindi Chapter 2 पत्र-नौका (अनिवार्य संस्कृत) 2

शिक्षण – संकेत –
नोट – विद्यार्थी कविता का अभ्यास तथा वाचन करें और कंठस्थ की गई कोई चार पंक्तियाँ स्वयं लिखें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *